Ghazal

[Ghazal][bleft]

Sher On Topics

[Sher On Topics][bsummary]

Women Poets

[Women Poets][twocolumns]

अनवर शऊर की प्रसिद्ध शायरी - Best Shayari of Anwar Shaoor

Best Shayari of Anwar Shaoor


Best-Shayari-of-Anwar-Shaoor
Best Shayari of Anwar Shaoor

अनवर  शऊर की प्रसिद्ध शायरी - Best Shayari of Anwar Shaoor




हमेशा हात में रहते हैं फूल उन के लिए
किसी को भेज के मंगवाने थोड़ी होते हैं



'शुऊर' ख़ुद को ज़हीन आदमी समझते हैं
ये सादगी है तो वल्लाह इंतिहा की है



वो मुझ से रूठ न जाती तो और क्या करती
मिरी ख़ताएँ मिरी लग़्ज़िशें ही ऐसी थीं



सामने आ कर वो क्या रहने लगा
घर का दरवाज़ा खुला रहने लगा



मेरे घर के तमाम दरवाज़े
तुम से करते हैं प्यार आ जाओ



हम बुलाते वो तशरीफ़ लाते रहे
ख़्वाब में ये करामात होती रही



बहुत इरादा किया कोई काम करने का
मगर अमल न हुआ उलझनें ही ऐसी थीं



तिरे होते जो जचती ही नहीं थी
वो सूरत आज ख़ासी लग रही है



किया बादलों में सफ़र ज़िंदगी भर
ज़मीं पर बनाया न घर ज़िंदगी भर



कभी रोता था उस को याद कर के
अब अक्सर बे-सबब रोने लगा हूँ



इस तअल्लुक़ में नहीं मुमकिन तलाक़
ये मोहब्बत है कोई शादी नहीं



अच्छों को तो सब ही चाहते हैं
है कोई कि मैं बहुत बुरा हूँ



आदमी बन के मिरा आदमियों में रहना
एक अलग वज़्अ है दरवेशी ओ सुल्तानी से



किस क़दर बद-नामियाँ हैं मेरे साथ
क्या बताऊँ किस क़दर तन्हा हूँ मैं



था व'अदा शाम का मगर आए वो रात को
मैं भी किवाड़ खोलने फ़ौरन नहीं गया



इश्क़ तो हर शख़्स करता है 'शुऊर'
तुम ने अपना हाल ये क्या कर लिया



ज़िंदगी की ज़रूरतों का यहाँ
हसरतों में शुमार होता है



दोस्त कहता हूँ तुम्हें शाएर नहीं कहता 'शुऊर'
दोस्ती अपनी जगह है शाएरी अपनी जगह



लोग सदमों से मर नहीं जाते
सामने की मिसाल है मेरी



मुस्कुराए बग़ैर भी वो होंट
नज़र आते हैं मुस्कुराए हुए



'शुऊर' सिर्फ़ इरादे से कुछ नहीं होता
अमल है शर्त इरादे सभी के होते हैं



हो गए दिन जिन्हें भुलाए हुए
आज कल हैं वो याद आए हुए



तेरी आस पे जीता था मैं वो भी ख़त्म हुई
अब दुनिया में कौन है मेरा कोई नहीं मेरा



कड़ा है दिन बड़ी है रात जब से तुम नहीं आए
दिगर-गूँ हैं मिरे हालात जब से तुम नहीं आए



चले आया करो मेरी तरफ़ भी!
मोहब्बत करने वाला आदमी हूँ




 अनवर शऊर की प्रसिद्ध शायरी - Best Shayari of Anwar Shaoor

कोई टिप्पणी नहीं: